खेल
Trending

सीएम को करना था सिंथेटिक हॉकी स्टेडियम का लोकार्पण, मेरठ के क्रीड़ाधिकारी ने खुद कर दिया

विभागीय अधिकारियों की वार्षिक गोपनीय रिपोर्ट में इस बात के अंकन के भी निर्देश दिए कि विभागीय अधिकारियों द्वारा कितने खिलाड़ियों को ट्रेनिंग दी गयी

लखनऊ: मेरठ के क्रीड़ाधिकारी योगेन्द्र पाल सिंह ने खेलो इंडिया के अंतर्गत मेरठ स्पोर्ट्स स्टेडियम में लगे सिंथेटिक हॉकी मैदान का हस्तांतरण बिना अपेक्षित सूचना के कर लिया गया है। यही नहीं उन्होंने उच्च स्तर पर बिना जानकारी के उसका लोकार्पण भी करा लिया।

इस पर प्रदेश के खेल व युवा कल्याण विभाग राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) गिरीश चंद्र यादव ने निर्देश दिए कि योगेन्द्र पाल सिंह को आदेशो की अवहेलना के लिए विभागीय कार्यवाही की जाए। इसके निर्देश उन्होंने अपर मुख्य सचिव, खेल डा.नवनीत सहगल को दिए।

दरअसल पूर्व में तय हुआ था कि इसका लोकार्पण मुख्यमंत्री को करना है। अन्यथा सक्षम स्तर से अनुमोदन लेके अग्रेत्तर कार्यवाही की जाय लेकिन योगेन्द्र पाल सिंह ने इसकी परवाह नहीं की और हैण्डओवर लेने के साथ खुद ही लोकार्पण कर दिया।

इसके साथ ही विभागीय अधिकारियों की वार्षिक गोपनीय रिपोर्ट में इस बात के अंकन के भी निर्देश दिए कि विभागीय अधिकारियों द्वारा कितने खिलाड़ियों को ट्रेनिंग दी गयी और कितने खिलाड़ियों ने उपलब्धि हासिल की और इसके आधार पर अधिकारियों को ग्रेडिंग दी जाय।

इसी के साथ कई अन्य मुद्दों पर खेल विभाग के मण्डल/जनपद स्तरीय अधिकारियों की विभागीय समीक्षा बैठक में विचार हुआ।

पढ़ें : चेतन शर्मा के खुलासे से भारतीय क्रिकेटरों पर सवालिया निशान, देखें वीडियो

महानिदेशक, युवा कल्याण एवं प्रांतीय रक्षक दल मुख्यालय, जेल रोड, आनन्द नगर, लखनऊ स्थित आयोजित बैठक में अपर मुख्य सचिव, खेल एवं युवा कल्याण डा. नवनीत सहगल, राजेश कुमार (विशेष सचिव, खेल) व विनीत प्रकाश (विशेष सचिव, खेल) खेल निदेशक डा. आरपी सिंह सहित अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।

बैठक के दौरान खेल मंत्री ने निर्देश दिया कि छात्रावासों में खिलाड़ियों को भोजन की व्यवस्था मेनू के अनुसार हो। यदि ऐसा नहीं हो तो सम्बन्धित अधिकारी एवं मेस संचालनकर्ता के विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जायेगी।

ये भी तय हुआ कि जिन अवस्थापनाओं का निर्माण हो चुका हो उसका लोकार्पण मुख्यमंत्री द्वारा ही कराया जाय औरसम्बन्धित विभागीय अधिकारी सक्षम स्तर से अनुमोदन के बाद शिलान्यास/लोकार्पण की कार्यवाही पूर्ण करायें।

इसके साथ ही समस्त मण्डलीय/जनपदीय अधिकारियों द्वारा सोशल मीडिया ग्रुप बनाने, आयोजित होने वाली प्रतियोगिताओं में स्थानीय सांसद व विधायक को आमंत्रित किया जाय। साथ ही अधिक से अधिक प्रतियोगिताओं का आयोजन कराया जाय।

वही अपर मुख्य सचिव खेल एवं खेल निदेशक ने निर्देश दिया कि प्रशिक्षण शिविरों का संचालन मानक के अनुसार किया जाय। इसके साथ ही उन्होंने आगामी अप्रैल माह में होने वाले खेलो इण्डिया यूनिवर्सिटी गेम्स के मद्देनजर समय पर तयारी पूरी करने के निर्देश दिए।

इसके साथ ही खेल निदेशक ने कहा कि स्टेडियम परिसर में आवासित अधिकारियों/कर्मचारियों द्वारा नियमानुसार बिजली/पानी का भुगतान समय से किया जाय।

यदि किसी अधिकारी/कर्मचारी का स्थानान्तरण हो गया हो तो उसके द्वारा भी आवास तत्काल खाली किया जाय। यदि इस सम्बन्ध में षिथिलता पायी जाती है तो सम्बन्धित के विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जायेगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button