उत्तर प्रदेशलखनऊ

भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में ब्लास्ट मामला : 8 दोषियों को आज सुनाई जायेगी सजा

लखनऊ । लखनऊ की विशेष एनआईए कोर्ट सोमवार भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन धमाके के दोषी आतंकियों को सजा सुनाएगी। आठों  आतंकियों को कोर्ट लाया गया है। एनआईए कोर्ट में पेश हुए दोषियों से जज ने कहा कि फैसला सुनाए जाने से पहले कोई बात कहनी है? इस पर दोषियों ने कहा कि बीते 15 सालों से हम लोग जेल में हैं। इस पर जज ने कहा कि सजा में 15 साल को माइनस कर दिया जाएगा। अब जज कोर्ट रूम में चले गए हैं। इस मामले में सजा पर फैसला 3 बजे तक हो सकता है।

शुक्रवार को कोर्ट ने मामले में सभी आरोपियों को दोषी करार दिया था। विशेष न्यायाधीश विवेकानंद शरण पांडेय ने सजा सुनाए जाते वक्त दोषियों को कोर्ट में पेश किए जाने का आदेश दिया था। आठों आतंकियों पर देश के खिलाफ युद्ध छेड़ने, आतंकी गतिविधियों के लिए धन, विस्फोटक और हथियार जुटाने के आरोप थे। साथ ही जाकिर नाइक का वीडियो दिखाकर युवाओं को जिहाद के लिए उकसाने सहित अन्य मामले में 21 मार्च 2018 को आरोप तय किए गए थे।

पढ़े :  घर के बाहर खेल रही चार साल की बच्ची को अगवा कर दुष्कर्म, मामला दर्ज

शुक्रवार को कोर्ट ने मोहम्मद फैसल, गौस मोहम्मद खान, मोहम्मद अजहर, आतिफ मुजफ्फर, मोहम्मद दानिश, सैयद मीर हुसैन, आसिफ इकबाल रॉकी और मोहम्मद आतिफ ईरानी को दोषी ठहराया था।

ब्लास्ट के बाद डिब्बे में अफरा-तफरी मच गई। कुछ लोग ट्रेन से कूद गए। उसकी वजह से उन्हें चोटें आईं। इनमें कुछ बुजुर्ग भी शामिल थे। ब्लास्ट की आवाज सुनकर कुछ लोगों ने चेन खींचकर ट्रेन को रोका। 14 मार्च 2017 को केंद्र सरकार ने इस मामले की जांच एनआईए को सौंप दी थी।

वर्तमान में चार आतंकियों में से तीन आतंकी सैयद मीर हुसैन, मोहम्मद दानिश और आतिफ मुजफ्फर हाई सिक्योरिटी वाली भोपाल सेंट्रल जेल में बंद हैं। इन तीनों को मध्य प्रदेश की पिपरिया पुलिस ने घटना के कुछ ही घंटों बाद उसी दिन पकड़ लिया था। तीनों आतंकी एक बस से भागने का प्रयास कर रहे थे।

वहीं, चौथे आतंकी गौस मोहम्मद खान को इनके द्वारा दी गई जानकारी पर बाद में यूपी से गिरफ्तार किया गया। उसे लखनऊ जेल में रखा गया है। मामले में एटीएस  के डिप्टी एसपी मनीष चंद्र सोनकर ने 8 मार्च 2017 को रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इसमें बताया गया कि आईएसआईएस

आईएसआईएस  लगातार इंटरनेट पर आतंकवादी घटनाओं का वीडियो अपलोड कर नौजवानों को अपने संगठन से जोड़ने और देश विरोधी गतिविधियों को अंजाम देने की कोशिश में जुटा है। इसी से प्रभावित होकर मोहम्मद फैसल, मोहम्मद दानिश, आतिफ मुजफ्फर, सैफुल्ला और मोहम्मद अजहर ने पैसेंजर ट्रेन में धमाके की साजिश रची थी। पूर्व में भी ये लोग आईएसआईएस  के लिए जिहाद और आतंकी वारदातों को अंजाम देने की बात किया करते थे।

पुलिस ने इन सभी आतंकियों को मुठभेड़ में गिरफ्तार किया था। लखनऊ के काकोरी में हुई मुठभेड़ में सैफुल्ला मारा गया था। अन्य आरोपियों के पास से भारी मात्रा में गोला बारूद और हथियार बरामद हुए थे। इसके बाद मामले की विवेचना एनआईए ने करते हुए बाकी आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दायर की थी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button